Disclaimer

"निम्नलिखित लेख विभिन्न विषयों पर सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि प्रस्तुत की गई जानकारी किसी विशिष्ट क्षेत्र में पेशेवर सलाह के रूप में नहीं है। यह लेख केवल शैक्षिक और सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है।"

Book consultation

"इस लेख को किसी भी उत्पाद, सेवा या जानकारी के समर्थन, सिफारिश या गारंटी के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए। पाठक इस ब्लॉग में दी गई जानकारी के आधार पर लिए गए निर्णयों और कार्यों के लिए पूरी तरह स्वयं जिम्मेदार हैं। लेख में दी गई किसी भी जानकारी या सुझाव को लागू या कार्यान्वित करते समय व्यक्तिगत निर्णय, आलोचनात्मक सोच और व्यक्तिगत जिम्मेदारी का प्रयोग करना आवश्यक है।"

Read more
Disclaimer

"निम्नलिखित लेख विभिन्न विषयों पर सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि प्रस्तुत की गई जानकारी किसी विशिष्ट क्षेत्र में पेशेवर सलाह के रूप में नहीं है। यह लेख केवल शैक्षिक और सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है।"

Book consultation

"इस लेख को किसी भी उत्पाद, सेवा या जानकारी के समर्थन, सिफारिश या गारंटी के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए। पाठक इस ब्लॉग में दी गई जानकारी के आधार पर लिए गए निर्णयों और कार्यों के लिए पूरी तरह स्वयं जिम्मेदार हैं। लेख में दी गई किसी भी जानकारी या सुझाव को लागू या कार्यान्वित करते समय व्यक्तिगत निर्णय, आलोचनात्मक सोच और व्यक्तिगत जिम्मेदारी का प्रयोग करना आवश्यक है।"

महिलाओं के शारीरिक स्वास्थ्य की देखभाल में मासिक धर्म एक बहुत महत्वपूर्ण पहलू है। वह शरीर में गर्भनिरोधक के रूप में काम करता है और इसके साथ ही इसके गायब होने से कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं। इस लेख में हम मासिक धर्म के गायब होने के कारणों की जानकारी हिंदी में देंगे।

मासिक धर्म क्या होता है?

मासिक धर्म महिलाओं में महीने के नियमित अंतरालों पर होता है। इसे माहवारी या पीरियड के नाम से भी जाना जाता है। मासिक धर्म में शरीर से जरूरी मात्रा में रक्त का निकलना होता है। यह नाक और मुंह से होने वाले रक्तावरण से अलग होता है। मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को असमानता, कई तरह की समस्याओं और दर्द से गुजरना पड़ता है।

मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को अक्सर थकान और थोड़ी सी बेचैनी भी महसूस होती है। इसके अलावा, कुछ महिलाओं को उल्टी, सिरदर्द, उबकाई और तनाव जैसी समस्याएं भी होती हैं। इन समस्याओं से बचने के लिए महिलाओं को अपने आहार में फल, सब्जियां और पौष्टिक आहार शामिल करना चाहिए। इसके अलावा, वे नियमित रूप से योग और व्यायाम कर सकती हैं जो उन्हें इन समस्याओं से बचाने में मदद कर सकते हैं।

मासिक धर्म के प्रकार

मासिक धर्म के विभिन्न प्रकार होते हैं जैसे कि नियमित मासिक धर्म, अस्थायी मासिक धर्म, विलंबित मासिक धर्म और अधिक दिनों तक चलने वाले लंबे मासिक धर्म। सभी प्रकार के मासिक धर्म के लिए अलग-अलग कारण होते हैं और इनमे से कुछ प्रकार गंभीर समस्याओं के पूर्वावलोकन हो सकते हैं।

नियमित मासिक धर्म एक महिने में एक बार होता है और इसकी अवधि आमतौर पर ३ से ७ दिन होती है। अस्थायी मासिक धर्म अनियमित होता है और इसकी अवधि भी अस्थायी होती है। विलंबित मासिक धर्म एक महिने से अधिक के बाद होता है और इसके कारण शरीर में हार्मोनल असंतुलन हो सकता है। अधिक दिनों तक चलने वाले लंबे मासिक धर्म भी हार्मोनल असंतुलन के कारण होता है और इसकी अवधि आमतौर पर ७ दिन से अधिक होती है।

महिलाओं में मासिक धर्म के गायब होने के प्रमुख कारण

मासिक धर्म गायब होने के कई कारण हो सकते हैं। ये समस्याएं बहुत हानिकारक हो सकती हैं और शारीरिक समस्याओं से लेकर बौद्धिक मानसिक समस्याओं तक जाने वाली होती हैं। हम नीचे कुछ प्रमुख कारणों के बारे में बताएंगे।

हार्मोनल इम्बैलेंस (Hormonal Imbalance)

हार्मोन्स किसी भी महिला के शरीर में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मासिक धर्म में हार्मोन संतुलन एक महत्वपूर्ण रोल निभाता है, स्वस्थ मात्रा में हार्मोन्स का संतुलन न रहने से मासिक धर्म के गायब होने की समस्या हो सकती है। हार्मोनल इम्बैलेंस के कई कारण होते हैं, जिनमें बदलता शरीर, अनियमित भोजन, थकान और तनाव शामिल होते हैं।

शोध एवं बाहर निकले ट्यूमर (Tumours)

कुछ त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए दवाइयों का सेवन करने से मासिक धर्म के गायब होने की समस्या उत्पन्न हो सकती है। ऐसे दवाइयाँ हैं जो महिलाओं के शरीर में हार्मोनल प्रभाव डालती हैं जो मासिक धर्म के गायब होने से जुड़ी समस्या के कारण में आता है। इसके अलावा, आमतौर पर महिलाओं के गर्भाशय एवं स्तन में ट्यूमर का विकास होता है, जो मासिक धर्म के नियमित होने में बाधा उत्पन्न करता है।

थकान (Fatigue)

थकान एक बहुत आम समस्या होती है जो कम ऊर्जा के साथ होती है। यह शरीर में कुछ कारणों के कारण हो सकता है जैसे कि अनियमित भोजन, थकान और सफाई की कमी। थकान मासिक धर्म के गायब होने का एक कारण तो नहीं होता है लेकिन यह अन्य कारणों के साथ कॉम्बाइन होकर इससे भी संबंधित हो सकता है।

पहली बार मासिक धर्म से संबंधित समस्या क्यों होती है?

जब शरीर में मासिक धर्म शुरू होते हैं तो शरीर के हार्मोन्स में उतार-चढ़ाव होता है जो जी मचलाना, ऊर्जा कमी, थकान और चक्कर आने जैसी समस्याओं के कारण महसूस की जा सकती है। इसके अलावा, शरीर का वजन लहलहाता होता होता है जो भी पहली बार मासिक धर्म से गुजरते हैं, लेकिन इसको नामुमकिन कर देने का सबसे अच्छा तरीका थोड़ी समय स्वस्थ भोजन और संतुलित व्यायाम करना होता है।

Advertisements

इसके अतिरिक्त, पहली बार मासिक धर्म से गुजरने वाली लड़कियों को अक्सर असुरक्षित महसूस करने की भी समस्या होती है। इसलिए, उन्हें इस बारे में जागरूक होना चाहिए और अपने आसपास के व्यक्तियों से सहायता मांगनी चाहिए। इसके लिए, उन्हें अपने घर में एक अलग कमरा दिया जा सकता है जहां वे अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकती हैं।

महिलाओं में मासिक धर्म के गायब होने से संबंधित समस्या

मासिक धर्म गायब होने से बहुत सी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। कुछ समस्याएं गंभीर हो सकती हैं और स्वास्थ्य पर असर डाल सकती हैं। हम नीचे कुछ समस्याओं के बारे में बताएँगे जो मासिक धर्म के गायब होने के कारण होती हैं।

पी.सी.ओ.डी (PCOD)

यह एक शारीरिक समस्या है जो कई महिलाओं में दिखाई देती है। इसके लक्षणों में मासिक धर्म के गायब होने की समस्या भी होती है। इस बीमारी में महिलाओं के अंडाशय में गांठें होती हैं जो नियमित मासिक धर्म की समस्या भी उत्पन्न करती है।

अक्सर फुंसी चढ़ जाना (Stress)

अक्सर फुंसी चढ़ जाना भी मासिक धर्म के गायब होने का कारण हो सकता है। जब शरीर में तनाव होता है तो यह मासिक धर्म के नियमित आने को रोक सकता है। इसलिए, तनाव को कम करने के लिए योग और मेडिटेशन जैसी एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है।एक और समस्या जो मासिक धर्म के गायब होने से उत्पन्न हो सकती है, वह है अनियमित खान-पान। अधिक मात्रा में शक्कर और तली हुई चीजें खाने से शरीर में अनियमितता आती है जो मासिक धर्म के नियमित आने को रोक सकती है। इसलिए, स्वस्थ खानपान का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है।