Disclaimer

"निम्नलिखित लेख विभिन्न विषयों पर सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि प्रस्तुत की गई जानकारी किसी विशिष्ट क्षेत्र में पेशेवर सलाह के रूप में नहीं है। यह लेख केवल शैक्षिक और सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है।"

Book consultation

"इस लेख को किसी भी उत्पाद, सेवा या जानकारी के समर्थन, सिफारिश या गारंटी के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए। पाठक इस ब्लॉग में दी गई जानकारी के आधार पर लिए गए निर्णयों और कार्यों के लिए पूरी तरह स्वयं जिम्मेदार हैं। लेख में दी गई किसी भी जानकारी या सुझाव को लागू या कार्यान्वित करते समय व्यक्तिगत निर्णय, आलोचनात्मक सोच और व्यक्तिगत जिम्मेदारी का प्रयोग करना आवश्यक है।"

Read more
Disclaimer

"निम्नलिखित लेख विभिन्न विषयों पर सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि प्रस्तुत की गई जानकारी किसी विशिष्ट क्षेत्र में पेशेवर सलाह के रूप में नहीं है। यह लेख केवल शैक्षिक और सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है।"

Book consultation

"इस लेख को किसी भी उत्पाद, सेवा या जानकारी के समर्थन, सिफारिश या गारंटी के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए। पाठक इस ब्लॉग में दी गई जानकारी के आधार पर लिए गए निर्णयों और कार्यों के लिए पूरी तरह स्वयं जिम्मेदार हैं। लेख में दी गई किसी भी जानकारी या सुझाव को लागू या कार्यान्वित करते समय व्यक्तिगत निर्णय, आलोचनात्मक सोच और व्यक्तिगत जिम्मेदारी का प्रयोग करना आवश्यक है।"

पीरियड लाने की दवा: मासिक धर्म की नियमितता को सुनिश्चित करने के लिए एक महत्वपूर्ण विकल्प

महिलाओं के जीवन में मासिक धर्म एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो न केवल उनके स्वास्थ्य के बारे में बताती है, बल्कि उनकी प्रजनन क्षमता को भी प्रभावित करती है। हालांकि, कई महिलाएं अनियमित मासिक धर्म के सामर्थ्य में संकट अनुभव करती हैं, जो उनके स्वास्थ्य और जीवनशैली को प्रभावित कर सकता है। ऐसे मामलों में, पीरियड्स को नियमित बनाने के लिए विभिन्न उपाय और दवाएं उपलब्ध हैं। इस ब्लॉग पोस्ट में हम चर्चा करेंगे “पीरियड लाने की दवा” के बारे में और इसके उपयोग, प्रकार, लाभ, दुष्प्रभाव, उपयोग करने का तरीका, और सामान्य प्रश्नों का समाधान करेंगे।

पीरियड लाने की आवश्यकता और कारण

पीरियड्स क्या होते हैं?

पीरियड्स, जिन्हें माहवारी, मासिक धर्म, या माहिने की अवधि के नाम से भी जाना जाता है, महिलाओं के योनि से होने वाले रक्तस्राव को संकेत करते हैं। यह मासिक धर्म अक्सर हर महीने एक बार घटित होता है और एक महिला के शरीर में बालिका की उम्र से शुरू होता है और मातृत्व की अवधि तक चलता है।

अनियमित मासिक धर्म के कारण

अनियमित मासिक धर्म कई कारणों से हो सकता है, जिसमें शारीरिक, मानसिक और जीवनशैली कारण शामिल हो सकते हैं। कुछ महिलाओं में मासिक धर्म के नियमितता का मानसिक और शारीरिक समर्थन नहीं होता है जिसके कारण उन्हें अनियमितता की समस्या हो सकती है। इसके अलावा, अन्य कारणों में गर्भावस्था, स्तनपान, प्रजनन संबंधी समस्याएं, अनियमित शारीरिक वजन, स्त्रीरोग, और रक्त प्रवाह में बदलाव शामिल हो सकते हैं।

पीरियड्स की नियमितता का महत्व

मासिक धर्म की नियमितता महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। नियमित मासिक धर्म प्रजनन क्षमता को सुनिश्चित करने के साथ-साथ मासिक धर्म से संबंधित अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को पहचानने में भी मदद करता है। नियमित मासिक धर्म हमारे शरीर में अंडाशय, गर्भाशय, और हार्मोनल प्रणाली के स्वास्थ्य का पता लगाने में महत्वपूर्ण रोल निभाता है। इसलिए, यदि किसी महिला को अनियमित मासिक धर्म की समस्या होती है, तो उन्हें इसे सुधारने की आवश्यकता होती है।

अगले अनुभाग में, हम “पीरियड लाने की दवाएं: विकल्प और प्रकार” के बारे में चर्चा करेंगे।

पीरियड लाने की आवश्यकता और कारण

महिलाओं के जीवन में मासिक धर्म एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो न केवल उनके स्वास्थ्य के बारे में बताती है, बल्कि उनकी प्रजनन क्षमता को भी प्रभावित करती है। हर महीने मासिक धर्म के आने से पहले और उसके दौरान, महिला के शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं जो उनके गर्भाशय को फलने, अंडाशय को अंडें छोड़ने और रक्तस्राव को लाने का कार्य करते हैं। पीरियड्स से जुड़े अनियमितता, देरी, या अधिक मात्रा के ब्लीडिंग के मामले में कई व्यक्तिगत और मेडिकल कारण हो सकते हैं।

पीरियड्स क्या होते हैं?

पीरियड्स, जिन्हें माहवारी, मासिक धर्म, या माहिने की अवधि के नाम से भी जाना जाता है, महिलाओं के योनि से होने वाले रक्तस्राव को संकेत करते हैं। यह मासिक धर्म अक्सर हर महीने एक बार घटित होता है और एक महिला के शरीर में बालिका की उम्र से शुरू होता है और मातृत्व की अवधि तक चलता है। मासिक धर्म के दौरान, गर्भाशय की ऊतकों के अंदर एक पत्रक स्थापित होता है जिसे लाइनिंग कहा जाता है। इसके बाद, गर्भाशय उत्तेजित होता है जो उस लाइनिंग को धीरे-धीरे बाहर निकालता है, जिसके परिणामस्वरूप रक्तस्राव होता है। यदि गर्भावस्था नहीं होती है, तो लाइनिंग रिजेक्ट होती है और गर्भाशय से बाहर निकलती है, जिसे हम ब्लीडिंग के रूप में जानते हैं।

अनियमित मासिक धर्म के कारण

अनियमित मासिक धर्म कई कारणों से हो सकता है, जिसमें शारीरिक, मानसिक और जीवनशैली कारण शामिल हो सकते हैं। कुछ महिलाओं में मासिक धर्म के नियमितता का मानसिक और शारीरिक समर्थन नहीं होता है जिसके कारण उन्हें अनियमितता की समस्या हो सकती है। हार्मोनल असंतुलन, जैसे कि अधिक या कम एस्ट्रोजन या प्रोगेस्ट्रोन, अनियमित मासिक धर्म का मुख्य कारण हो सकता है। इसके अलावा, अन्य कारणों में गर्भावस्था, स्तनपान, प्रजनन संबंधी समस्याएं, अनियमित शारीरिक वजन, स्त्रीरोग, और रक्त प्रवाह में बदलाव शामिल हो सकते हैं। अगर किसी महिला को अनियमित मासिक धर्म की समस्या होती है, तो इसे उनके चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए ताकि सही निदान और उपचार किया जा सके।

पीरियड्स की नियमितता का महत्व

नियमित मासिक धर्म महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। नियमित मासिक धर्म प्रजनन क्षमता को सुनिश्चित करने के साथ-साथ मासिक धर्म से संबंधित अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को पहचानने में भी मदद करता है। नियमित मासिक धर्म हमारे शरीर में अंडाशय, गर्भाशय, और हार्मोनल प्रणाली के स्वास्थ्य का पता लगाने में महत्वपूर्ण रोल निभाता है। इसलिए, यदि किसी महिला को अनियमित मासिक धर्म की समस्या होती है, तो उन्हें इसे सुधारने की आवश्यकता होती है।

पीरियड लाने की दवाएं: विकल्प और प्रकार

मासिक धर्म की नियमितता को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न प्रकार की दवाएं उपलब्ध हैं। पीरियड लाने की दवाएं मासिक धर्म को नियमित बनाने में मदद कर सकती हैं, खून की मात्रा को नियंत्रित कर सकती हैं, और मासिक धर्म के साथ जुड़े दर्द को कम कर सकती हैं। इस अनुभाग में हम पीरियड लाने की दवाओं के विभिन्न विकल्पों की चर्चा करेंगे जो मासिक धर्म को सुधारने में मदद कर सकते हैं।

Advertisements

औषधियों का उपयोग करने की सलाह

पीरियड लाने की दवाओं का उपयोग करने से पहले, हमेशा अपने चिकित्सक की सलाह लेना चाहिए। वे आपके रोग और स्वास्थ्य का आकलन करके आपको सबसे उपयुक्त और सुरक्षित दवा सुझा सकते हैं। चिकित्सक आपके रोग की पूरी जांच करेंगे, आपके शरीर के तत्वों का मूल्यांकन करेंगे, और आपकी व्यक्तिगत स्थिति के आधार पर दवा की खुराक निर्धारित करेंगे।

प्राकृतिक दवाएं

अपार प्रकृतिक दवाओं का उपयोग करके भी मासिक धर्म को सुधारा जा सकता है। ये दवाएं प्राकृतिक होती हैं और बिना किसी कीमिकल तत्व के होती हैं। निम्नलिखित प्राकृतिक दवाएं पीरियड लाने के लिए उपयोगी हो सकती हैं:

मेथी के बीज

मेथी के बीज मासिक धर्म को नियमित करने में मदद कर सकते हैं। आप मेथी के बीजों को रात भर पानी में भिगो दें और सुबह इस पानी को पी सकते हैं। इसके अलावा, आप मेथी के बीजों को पीसकर पाउडर बना सकते हैं और इसे गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं।

सौंफ

सौंफ भी मासिक धर्म को नियमित करने में मदद कर सकता है। आप सौंफ के बीजों को पीसकर पाउडर बना सकते हैं और इसे गर्म पानी के साथ ले सकते हैं। इसे नियमित रूप से सेवन करने से मासिक धर्म में सुधार हो सकता है।

अशोकरिष्ट

अशोकरिष्ट भी मासिक धर्म को सुधारने के लिए उपयोगी हो सकता है। यह एक आयुर्वेदिक दवा है जिसमें अशोक की छाल, गुड़हल के फूल, और दशमूल का प्रयोग किया जाता है। अशोकरिष्ट को पानी के साथ मिश्रित करके दिन में दो बार सेवन किया जा सकता है।

राजा प्रवर्तिनी वटी

राजा प्रवर्तिनी वटी भी मासिक धर्म को नियमित करने में सहायक हो सकती है। यह आयुर्वेदिक दवा गर्भाशय की प्रवृत्ति को बढ़ाने में मदद करती है और मासिक धर्म को समान रूप से फैलाने में मदद करती है। चिकित्सक की सलाह के अनुसार इसे सेवन करें।

औषधियों के अलावा अन्य विकल्प

जबकि औषधियों का उपयोग करना एक विकल्प है, अन्य विकल्प भी मासिक धर्म को नियमित करने में मदद कर सकते हैं। ये विकल्प निम्नलिखित हो सकते हैं:

गर्भनिरोधक गोलियाँ

कई महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करती हैं जो मासिक धर्म को नियमित करने में मदद कर सकती हैं। इन गोलियों में अंडाशय और गर्भाशय में हार्मोन्स के स्तर को नियंत्रित करने वाले तत्व होते हैं। गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करने से पहले, चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए और आपकी व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुसार उन्हें लेना चाहिए।

गर्भपात की दवाएं

कई महिलाएं गर्भपात की दवाओं का उपयोग करती हैं जब वे चाहती हैं कि उनके मासिक धर्म जल्दी शुरू हो जाए। यह दवाएं गर्भाशय के अंदर रक्तस्राव को बढ़ाने में मदद करती हैं और इस प्रक्रिया को शुरू करती हैं। गर्भपात की दवाएं केवल चिकित्सक या वैद्यकीय सलाह के तहत ही लेनी चाहिए।

घरेलू उपाय और तरीके

कुछ घरेलू उपाय और तरीके भी मासिक धर्म को सुधारने में मदद कर सकते हैं। इनमें अदरक और शहद का सेवन, पत्ता गोभी और गुड़ के सेवन, हल्दी और दूध का प्रयोग, प्याज का रस, और गर्म पानी से गर्गल करना शामिल हो सकते हैं। ये घरेलू उपाय अक्सर अनियमित मासिक धर्म के लिए सुझाए जाते हैं, लेकिन फिर भी आपको अपने चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए और अपनी व्यक्तिगत स्थिति के आधार पर इन उपायों को अपनाना चाहिए।

अगले अनुभाग में, हम “पीरियड लाने की दवाओं के उपयोग, लाभ, और दुष्प्रभाव” के बारे में चर्चा करेंगे।

पीरियड लाने की दवाओं के उपयोग, लाभ, और दुष्प्रभाव

पीरियड लाने की दवाएं महिलाओं के लिए विभिन्न लाभ प्रदान कर सकती हैं, जैसे कि मासिक धर्म की नियमितता, खून की मात्रा को सामान्य करना, मासिक धर्म से संबंधित दर्द को कम करना, और अन्य संबंधित समस्याओं का समाधान। हालांकि, इन दवाओं के साथ कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। इस अनुभाग में हम पीरियड लाने की दवाओं के उपयोग, लाभ, और दुष्प्रभाव के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

दवाओं के उपयोग की जरूरत

पीरियड लाने की दवाएं उन महिलाओं के लिए उपयोगी होती हैं जिनके मासिक धर्म में अनियमितता होती है या जो अपने मासिक धर्म की नियमितता को सुनिश्चित करना चाहती हैं। यह दवाएं उन महिलाओं के लिए माध्यमिक उपचार का रूप ले सकती हैं जिनके शारीरिक और हार्मोनल कारणों से मासिक धर्म अनियमित होता है। चिकित्सक की सलाह के अनुसार ये दवाएं उपयोग की जानी चाहिए ताकि सही दवा चयन किया जा सके और कोई दुष्प्रभाव न हो।

दवाओं के लाभ

मासिक धर्म की नियमितता

पीरियड लाने की दवाएं मासिक धर्म की नियमितता को स्थापित करने में मदद कर सकती हैं। ये दवाएं आपके शारीर में हार्मोनल स्तर को संतुलित करती हैं और अनियमित मासिक धर्म की समस्या को सुधार सकती हैं। नियमित मासिक धर्म आपके शारीर में गर्भाशय और अंडाशय के स्वास्थ्य की जांच करने में मदद करता है और प्रजनन क्षमता को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

खून की मात्रा को सामान्य करना

कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान बहुत अधिक या बहुत कम खून का निकलना होता है, जो उनके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। पीरियड लाने की दवाएं खून की मात्रा को सामान्य करने में मदद कर सकती हैं। ये दवाएं रक्तस्राव को नियंत्रित करती हैं और अधिक या कम खून के साथ जुड़ी समस्याओं को सुधार सकती हैं।

पीरियड्स में दर्द को कम करना

कई महिलाएं मासिक धर्म के दौरान दर्द और असहनीयता का अनुभव करती हैं। पीरियड लाने की दवाएं इस दर्द को कम करने में मदद कर सकती हैं। ये दवाएं शारीरिक और मानसिक तनाव को कम करती हैं और मासिक धर्म से संबंधित दर्द और असुविधाओं को हल कर सकती हैं।

अन्य संबंधित समस्याओं का समाधान

पीरियड लाने की दवाएं अन्य संबंधित समस्याओं को भी समाधान कर सकती हैं। इन दवाओं का उपयोग अनियमित मासिक धर्म, बहुत भारी या बहुत हल्की खून की बहुत ज्यादा या कमी, योनि संक्रमण, अंधापन, मूड स्विंग्स, पेट में उभरन, और पेशाब संबंधित समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकता है। यदि आपको किसी ऐसी समस्या से पीड़ा हो रही है, तो चिकित्सक से सलाह लेना चाहिए और सही उपाय की जांच करवाना चाहिए।

दवाओं के दुष्प्रभाव

पीरियड लाने की दवाओं का उपयोग करने से कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। कुछ महिलाओं को इन दवाओं के सेवन के बाद पेट में दर्द, मतली, उलटी, सिरदर्द, शरीर में सूजन, या त्वचा उत्पादों में बदलाव का अनुभव हो सकता है। यह दुष्प्रभाव आमतौर पर अस्थायी होते हैं और समय के साथ गायब हो जाते हैं। हालांकि, यदि आपको किसी भी दुष्प्रभाव का अनुभव हो रहा है जो गंभीर हो रहा है, तो तुरंत अपने चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

इस तरह, पीरियड लाने की दवाएं महिलाओं के लिए विभिन्न लाभ प्रदान करती हैं, लेकिन साथ ही कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। चिकित्सक की सलाह और निर्देशों का पालन करके ही इन दवाओं का उपयोग करना चाहिए।

अगले अनुभाग में, हम “पीरियड लाने की दवाओं कैसे लें” के बारे में चर्चा करेंगे।

पीरियड लाने की दवाएं कैसे लें

पीरियड लाने की दवाएं लेने से पहले, आपको अपने चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए। वे आपकी मेडिकल हिस्ट्री को ध्यान में रखते हुए और आपकी व्यक्तिगत स्थिति के आधार पर सही दवा चयन करेंगे। इस अनुभाग में, हम पीरियड लाने की दवाओं को कैसे लेना है, उनकी खुराक का ध्यान रखना है, और विभिन्न रूपों में दवाओं का उपयोग करना है, इसके बारे में चर्चा करेंगे।

डॉक्टर से सलाह लें

पीरियड लाने की दवाएं लेने से पहले आपको अपने चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए। वे आपकी मेडिकल हिस्ट्री की जांच करेंगे, आपके स्वास्थ्य की विशेषताओं को ध्यान में रखते हुए, और आपके रोग की गंभीरता का मूल्यांकन करेंगे। चिकित्सक आपको उचित दवा की खुराक ओर प्रकार बताएँगे जो आपके लिए सबसे अच्छा होगा। इसलिए, निश्चित रूप से अपने चिकित्सक की सलाह का पालन करें और उनके दिए गए निर्देशों का सख्ती से पालन करें।

दवाओं के खुराक का ध्यान रखें

पीरियड लाने की दवाएं लेते समय, आपको दवाओं के सही खुराक का ध्यान रखना चाहिए। यह खुराक आपके चिकित्सक द्वारा निर्धारित की जाती है और आपकी व्यक्तिगत स्थिति के आधार पर निर्धारित की जाती है। अधिकांश मामलों में, आपको दवाओं को व्यंजन, गोलियों, या सिरप के रूप में लेना होगा। आपको दवाओं की खुराक के बारे में चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए और उनके दिए गए निर्देशों का पालन करना चाहिए।

आम तरीका

आम तरीके से, आपको दवाएं गर्म पानी के साथ लेनी चाहिए। इसके लिए, आपको दवा को एक गिलास गर्म पानी के साथ लेना होगा। दवा को गर्म पानी में मिश्रित करने से पहले, आपको अपने चिकित्सक से यह पुष्टि करनी चाहिए कि यह आपके लिए सुरक्षित और उपयुक्त है।

औषधि सिरप

कुछ दवाएं सिरप के रूप में भी उपलब्ध होती हैं। ये सिरप आसानी से खाली पेट लिया जा सकता है और उन्हें खाने के बाद लेने की आवश्यकता नहीं होती है। आपको चिकित्सक द्वारा सिरप की खुराक के बारे में जानकारी लेनी चाहिए और उनके दिए गए निर्देशों का पालन करना चाहिए।

गोलियाँ या टेबलेट्स

कुछ दवाएं गोलियों या टेबलेट्स के रूप में भी उपलब्ध होती हैं। आपको अपने चिकित्सक द्वारा निर्धारित खुराक का पालन करना चाहिए और दवाएं खाने के बाद पानी के साथ लेना चाहिए। गोलियाँ या टेबलेट्स को स्वाद के लिए या बिना खाने के साथ लेने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

इस तरह, पीरियड लाने की दवाएं लेने का तरीका आपके चिकित्सक द्वारा निर्धारित किया जाता है और आपकी व्यक्तिगत स्थिति के आधार पर इन दवाओं का उपयोग करना चाहिए। चिकित्सक के द्वारा सलाह और निर्देशों का पालन करने से आपको सबसे अच्छा परिणाम मिलेगा।

अगले अनुभाग में, हम “पीरियड लाने की दवाएं के लाभ और प्रभाव देखें” के बारे में चर्चा करेंगे।

पीरियड लाने की दवाएं के बारे में सामान्य प्रश्न

मासिक धर्म के लिए दवाओं के उपयोग से जुड़े कुछ सामान्य प्रश्न हो सकते हैं। नीचे दिए गए प्रश्नों का संक्षेप में उत्तर दिया गया है:

कौन सी दवा सबसे अच्छी है?

पीरियड लाने की दवाओं में कई विकल्प हो सकते हैं और इनमें से कौन सी दवा सबसे अच्छी है, यह व्यक्तिगत आवश्यकताओं और स्थितियों पर निर्भर करेगा। चिकित्सक आपकी विशेष स्थिति का मूल्यांकन करेंगे और आपको उपयुक्त दवा की सलाह देंगे। इसलिए, आपको अपने चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए और उनकी सलाह का पालन करना चाहिए।

दवाओं के प्रभाव कब देखे जा सकते हैं?

पीरियड लाने की दवाएं आमतौर पर दवा के सेवन के बाद कुछ समय बाद प्रभाव दिखाती हैं। इसका समय व्यक्तिगत होता है और दवा के प्रकार और खुराक पर निर्भर करता है। आमतौर पर, दवा के सेवन के बाद कुछ दिनों में पीरियड्स शुरू हो सकते हैं। हालांकि, इसमें व्यक्ति के शारीरिक और हार्मोनल स्थिति का भी प्रभाव हो सकता है। यदि आपको किसी अनियमितता या चिंता होती है, तो आपको अपने चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए।

दवाओं के साइड इफेक्ट्स क्या हो सकते हैं?

पीरियड लाने की दवाओं का सेवन करने से कुछ लोगों को साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। ये साइड इफेक्ट्स व्यक्ति के शारीरिक प्रतिक्रिया पर निर्भर करेंगे और आमतौर पर समय के साथ अपने आप ठीक हो जाते हैं। कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स में पेट में दर्द, मतली, उलटी, सिरदर्द, शरीर में सूजन, या त्वचा में बदलाव शामिल हो सकते हैं। यदि आपको कोई दुष्प्रभाव अधिक संकटपूर्ण लग रहा है, तो तुरंत अपने चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

पीरियड लाने की दवाएं को अवधि कितने दिनों तक लेना चाहिए?

पीरियड लाने की दवाएं को लेने की अवधि व्यक्ति के लिए अलग-अलग हो सकती है। आपके चिकित्सक आपकी व्यक्तिगत स्थिति के आधार पर दवा की अवधि निर्धारित करेंगे। कुछ महिलाएं केवल कुछ दिनों तक ही दवा का सेवन करती हैं, जबकि दूसरी महिलाएं इसे अधिक समय तक लेती हैं।